PM Kusum Yojana Online Registration| कुसुम सोलर पम्प योजना 2021:

 

कुसुम सोलर पम्प योजना क्या है? | PM Kusum Yojana Online Registration 2021

Kusum Solar Pump Yojana: कुसुम योजना का पूरा नाम किसान ऊर्जा एवं उत्थान महा अभियान योजना है। यह योजना किसानों के लिए कृषि सिचाई सम्बन्धी समस्याओं का जड़ से ख़त्म करने और उन्हें स्वरोजगार दिलाने के उद्देश्य से मोदी सरकार द्वारा शुरू की गयी है। इस लेख में हमने प्रधानमंत्री कुसुम सोलर पम्प योजना की बेसिक जानकारियों से लेकर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन तक की विभिन्न जानकारियां आपके साथ साझा की हैं।



Headings of This Article hide

1 कुसुम सोलर पम्प योजना क्या है?
1.1 कुसुम योजना का उद्देश्य –
1.2 Kusum Yojana – Main Points
2 PM Kusum Yojana Online Registration 2021
2.1 कुसुम योजना का ऑनलाइन आवेदन करने की आवश्यक पात्रता और जरुरी दस्तावेज –
2.2 कुसुम योजना ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया –
2.3 कुसुम योजना के नाम पर हो रहे फ्रॉड से सम्बंधित जरुरी सूचना –
2.4 कुसुम सोलर पंप रजिस्ट्रेशन –
2.5 PM Kusum Yojana के लाभ –


कुसुम सोलर पम्प योजना क्या है?

प्रधानमन्त्री कुसुम योजना की शुरुआत नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय (MNRE) द्वारा 8 मार्च 2019 को हुई थी। किसान भाई इसे कुसुम सोलर पंप योजना भी कहते हैं। इस योजना का लक्ष्य किसानों के लिए सौर ऊर्जा से चलने वाले सोलर सिचाई पंप बेहद कम लागत में उपलब्ध करवाना है। जिससे कृषि उत्पादन के साथ साथ किसानों की आय भी बढाई जा सके।

आप सोंच रहे होंगे कि आय कैसे बढेंगी, तो आप को बता दें कि सोलर पैनल की बिजली जो सिचाई आदि कार्यों के बाद बच जाएगी, उसे किसान प्रति यूनिट के हिसाब से सरकार को बेंच सकेंगे।


कुसुम योजना का उद्देश्य –

इस योजना को शुरू करने के पीछे सरकार के निम्नलिखित उद्देश्य हैं –

सौर ऊर्जा से चलने वाले सोलर पम्प से किसानों को सिचाई का विश्वसनीय और कम खर्च वाला, वातावरण प्रदूषण रहित साधन मुहैय्या करवाना।
किसानों को अपनी बंजर जमीन का सदुपयोग करने का मौका देना।
सोलर पैनल से पैदा होने वाली बिजली से अतिरिक्त आमदनी और आत्मनिर्भर बनने का अवसर देना।
सोलर पम्प लगाने में सरकारी सब्सीडी देना जिससे किसान आसानी से सोलर पैनल सिचाई पम्प लगा सकें।
कुल लागत का सिर्फ 10 प्रतिशत हिस्सा किसान को सोलर पम्प लगाने पर देने होंगे
PM Kusum Yojana Online Registration 2021
इस योजना के तहत किसान भाई 3 HP, 5 HP और 7.5 HP क्षमता के सोलर पम्प लगा सकते हैं। जिनकी बिजली उत्पादन क्षमता 500 किलोवाट से 2 मेगावाट तक हो सकती है। कुसुम सोलर पम्प योजना का लाभ पाने के लिए किसानों को कुल लागत का मात्र 10 प्रतिशत ही भुगतान करना पड़ेगा। बाकी 90 प्रतिशत में 60 फ़ीसदी सब्सीडी सरकार लाभार्थियों के खाते में देगी। और 30 प्रतिशत रकम बैंक द्वारा लोन के रूप में दिए जायेंगे। जिसे किसान किस्तों में चुका सकते हैं।

तो जैसा कि आप अब जान चुके हैं कि कुसुम योजना के तहत किसान भाई अपने खेतों में सोलर पैनल से चलने वाला कृषि सिचाई पम्प लगवा सकते हैं। इसके अनिवार्य पात्रता, आवश्यक दस्तावेज और आवेदन की प्रक्रिया क्या है, आइये स्टेप बाई स्टेप जानते हैं –

कुसुम योजना का ऑनलाइन आवेदन करने की आवश्यक पात्रता और जरुरी दस्तावेज –

दोस्तों कुसुम सोलर पम्प योजना के लिए आवेदन करने वाला व्यक्ति किसान होना चाहिए। यानी देश के सभी किसान भाई इस योजना का लाभ उठा सकते हैं।
किसान के पास आधार कार्ड होना चाहिए।
आवेदक के पास बैंक अकाउंट और उसकी सारी डिटेल होनी चाहिए।
किसान के पास अपनी जमीन के सारे कागजात होने चाहिए। जिससे यह पता लगेगा कि उसे कितने बड़े सोलर सिचाई पम्प सयंत्र की जरुरत पड़ेगी। इसके आलावा।
आय प्रमाण पत्र
मोबाइल नम्बर
निवास प्रमाण पत्र
पासपोर्ट साइज़ फोटो आदि की जरुरत पड़ सकती है।

कुसुम योजना ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया –

दोस्तों आपको बता दें कि कुसुम योजना के ऑनलाइन आवेदन के लिए पूरे देश में कोई एक वेबसाइट नहीं है। इसके लिए अगल-अलग राज्यों की अलग वेबसाइट हैं।

जो किसान भाई प्रधानमंत्री कुसुम सोलर पम्प योजना के तहत अपने बंजर खेत में सोलर सिचाई सयंत्र लगाना चाहते हैं। उनके लिए हमने ऑनलाइन आवेदन करने की पूरी प्रक्रिया समझाने की कोशिस की है।

सबसे पहली बात जो आपको जानना बहुत जरुरी है, कि इस योजना का पूरा मसौदा केंद्र सरकार के नवीन अवं नवीनीकरण ऊर्जा मंत्रालय (MNRE) द्वारा किया गया है। जिसकी वेबसाइट mnre.gov.in है। लेकिन आवेदन प्रक्रिया और कार्यवाही राज्य सरकारें देख रही है।

कुसुम योजना के तहत सोलर पम्प लगाने के लिए देश में हर राज्य की सरकारें अलग-अलग तरीके से काम कर रही हैं। उत्तर प्रदेश में तो यह पहले आओ पहले पावो नियम के आधार पर चल रही है।

कुसुम योजना ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया –

दोस्तों आपको बता दें कि कुसुम योजना के ऑनलाइन आवेदन के लिए पूरे देश में कोई एक वेबसाइट नहीं है। इसके लिए अगल-अलग राज्यों की अलग वेबसाइट हैं।

जो किसान भाई प्रधानमंत्री कुसुम सोलर पम्प योजना के तहत अपने बंजर खेत में सोलर सिचाई सयंत्र लगाना चाहते हैं। उनके लिए हमने ऑनलाइन आवेदन करने की पूरी प्रक्रिया समझाने की कोशिस की है।

सबसे पहली बात जो आपको जानना बहुत जरुरी है, कि इस योजना का पूरा मसौदा केंद्र सरकार के नवीन अवं नवीनीकरण ऊर्जा मंत्रालय (MNRE) द्वारा किया गया है। जिसकी वेबसाइट mnre.gov.in है। लेकिन आवेदन प्रक्रिया और कार्यवाही राज्य सरकारें देख रही है।

कुसुम योजना के तहत सोलर पम्प लगाने के लिए देश में हर राज्य की सरकारें अलग-अलग तरीके से काम कर रही हैं। उत्तर प्रदेश में तो यह पहले आओ पहले पावो नियम के आधार पर चल रही है।

PM Kusum Yojana के लाभ

किसान अपनी बंजर जमीन का सदुपयोग कर पाएंगे।

कम पैसे लगाकर भी किसानों को सोलर सिचाई पम्प मिलेंगे जिससे उनपर कोई आर्थिक भार नहीं आएगा।

देश में सौर ऊर्जा से बिजली बनाने को बढ़ावा मिलेगा।
सोलर पम्प से खरीदी जाने वाली बिजली से देश में अधिक बिजली बनेगी।

सिचाई के कारण बर्बाद होने वाली फसलों की घटनाएँ कम होंगी। और फसल उत्पादन में बढ़ोत्री और निरंतरता आएगी।
डीजल और खम्भे की बिजली की बचत होगी।
किसानों की आय बढेंगी।





Post a comment (0)
Previous Post Next Post